1 महीने में 2 बार पीरियड आने के कारण और इलाज क्या है?

क्या आपको महीने में 2 बार पीरियड आता है। या आपको 1 महीने में 2 या दो से अधिक बार पीरियड आ रहा है तो आज की इस जानकारी में हम बात करने वाले हैं 1 महीने में दो या दो से अधिक बार पीरियड आने के क्या कारण हो सकते हैं और इसका क्या इलाज है इसके बारे में पूरी डिटेल में जानेंगे।

पीरियड हर महीने आते हैं पर अगर मासिक धर्म में कोई भी गड़बड़ी होती है येसे कई सारे कारण होते हैं जिसकी वजह से अगर उनमें बदलाव आता है तो आपके Period Cycle Disturb हो सकती है पीरियड के महीने में दो बार तीन बार भी आ सकते हैं।

1 महीने में 2 बार पीरियड आने के कारण
1 महीने में 2 बार पीरियड आने के कारण और इलाज क्या है?

ऐसे बहुत से पेशेंट होते हैं जिनके अभी पीरियड आया और चार-पांच दिन फ्री होने के बाद फिर से ब्लीडिंग आना शुरू हो जाते हैं। महिलाएं अचानक से घबरा जाती है कि मुझे ऐसा क्यों क्या कोई गंभीर समस्या तो नही जिसके वजह से मुझे 1 महीने में दो या दो से अधिक बार पीरियड आ रहे हैं। यदि आपके साथ भी ऐसा हो रहा है।

1 महीने में 2 बार पीरियड आने के क्या क्या कारण हो सकते है?

आपको यह जरूर पता होना चाहिए 1 महीने में 2 बार पीरियड आने के क्या कारण हो सकते हैं। और यदि आपको भी ऐसी समस्या हो रही है तो उसे कैसे डील करें। आपको जल्दी से किसी गायनिक डॉक्टर से मिलना चाहिए और जो भी Diagnosis होता है उसका Treatment लेना चाहिए।

चलिए अब जान लेते हैं 1 महीने में दो या दो से अधिक बार पीरियड आने के क्या कारण हो सकते हैं।

1.गर्भ निरोधक दवा (Contraseptive Pill)

यदि आप लंबे समय से कोई कंडक्टिव पिल्स का ले रहे हैं यदि आप उसका High dose ले रहे हैं या आप उसे बीच में छोड़ दी हैं उसके कारण भी आपके पीरियड माह में दो बार आ सकते हैं। जैसा कि पता होगा आपको ओरल कांट्रेसेप्टिव पिल 1 दिन खाना होता है जो 21 दिन प्रतिदिन आपको खाना रहता है यदि बीच में किसी कारणवश (एलर्जी या उल्टी) दवा को बंद कर देती हैं तो यह समस्या हो सकती है।

2.यूट्रेस में गांठ (Fibroid in Uterus)

दूसरा कारण यह हो सकता है कि आपके यूट्रस में फाइबरोइड यानी की गांठ है। फाइबरॉयड होने से यूट्रस में गांठ बन जाते हैं इसके कारण भी आपको बार-बार बिल्डिंग हो सकती हैं और महीने में दो या तीन बार ब्लीडिंग हो सकती है। जिस भी महिला को फाइब्रॉयड होता है उसके कुछ लक्षण भी होते हैं पेट में दर्द होना, सूजन होना वहां पर दर्द होता है, यह अल्ट्रासाउंड द्वारा पता चल जाता है।

3.हार्मोन में बदलाव (Hormones imbalance)

1 महीने में दो या दो से अधिक बार पीरियड आने के तीसरा मुख्य कारण होता है हार्मोन में बदलाव होने का यदि आपके हार्मोन में बदलाव हो रहा है यानी कि आपका थायराइड हार्मोन, अन्य हार्मोन लेवल बढ़ गया है या कम हो गया है जिसके कारण भी पीरियड 1 महीने में 2 बार आ सकते हैं।

यदि आपके बॉडी में प्रोलैक्टिन हार्मोन की मात्रा बढ़ गई है ऐसी कंडीशन में आपके पीरियड महीने में बार-बार आ सकते हैं।

4.रजोनिवृत्ति होने वाला हो (Menopause)

कई बार मेनोपॉज के समस्या में भी ऐसा होता है आपने सुना होगा महिलाओं की एक 40 के बाद कभी भी मेनोपॉज हो सकता है वैसे तो सामान्य 45 साल के ऊपर महिलाओं के पीरियड आना बंद हो जाते हैं तो उसे Menopause Condition कहते हैं ऐसे करण भी कई बार जल्दी जल्दी पीरियड आने लगते हैं और उससे कुछ महीने बाद महिलाओं के पीरियड आना बंद हो जाते हैं।

5.PCOD/PCOS Problem

Ovarian यह महिला के प्रजनन अंग हैं जो मासिक धर्म चक्र और एस्ट्रोजन, प्रोजेस्टेरोन, इनहिबिन, रिलैक्सिन आदि जैसे हार्मोन के उत्पादन को नियंत्रित करते हैं। यदि इसमें किसी भी तरह का इंफेक्शन है होने पर 1 महीने में दो बार पीरियड आने की समस्या हो सकती है।

6.खराब दिनचर्या (Bad lifestyle)

खराब लाइफस्टाइल यानी कि रात में बहुत देर तक जगना बहुत लेट सुबह तक सोते हैं गलत एक्सरसाइज करते हैं या जंक फूड ज्यादा खाते हैं तो ऐसी कुछ गलत आदतें से भी महीने में एक से अधिक बार पीरियड आ सकते हैं।

1 महीने में 2 बार पीरियड आने पर क्या करें?

जब भी आपको महीने में दो बार पीरियड आए तो सबसे पहले आपको नजदीकी गायनेकोलॉजी डॉक्टर को दिखाना है। डॉक्टर आपका अल्ट्रासाउंड और ब्लड टेस्ट में CBC, Thyroid Test और भी अन्य टेस्ट करवाएंगे और देखे कहां किस कारण से समस्या हो रही है।

यदि आपको अल्ट्रासाउंड भी नॉर्मल आता है और ब्लड रिपोर्ट भी सभी नॉर्मल आते हैं तो ऐसे में डॉक्टर आपको हार्मोन के Medicines Prescribed कर सकते हैं। इसके साथ में डॉक्टर आपको यूटरिन टॉनिक भी डिस्क्राइब कर सकते हैं जैसे M2tone, Levotone बहुत सारे यूटरिन टॉनिक आते हैं जो बच्चेदानी को मजबूत बनाते हैं यदि यूट्रस में कोई इंफेक्शन है तो काफी हद तक की समस्या को ठीक कर देता है। इसके बाद में आप कुछ एंटीबायोटिक भी डिस्क्राइब कर सकते हैं यदि दर्द है तो Pain Killer भी दे सकते हैं और गैस के लिए भी दवाइयां दे सकते हैं।

अगर मान लो बार-बार ऐसी समस्या हो रही है तो आपको डॉक्टर से कंसल्ट करना ही है और साथ में आपको परहेज भी रखना है ऐसी चीजें नहीं खाना है, जिसस की बिल्डिंग और ज्यादा बढ़ जाए जैसे

  • आपको जंक फूड नहीं खाना है।
  • Pineapple, Papaya नहीं खाना है।
  • हल्दी वाला दूध नहीं पीना है।
  • हरी सब्जी ज्यादा खाते।

इसे चीजे न खाए जिससे की बॉडी में गर्मी बढ़े यदि आपके बॉडी में गर्मी बढ़ती है इससे आपके पीरियड और तेज हो सकते हैं तो और ज्यादा समस्या हो सकती हैं इसके साथ में आपको ज्यादा गैस बनाने वाली खाना भी नहीं खाना है।

अपने डॉक्टर से कंसल्ट करने के बाद कुछ एक्सरसाइज भी कर सकते हैं जो भी डॉक्टर आपको रिकमेंट करें वह Exercise आपको करना है और जो दवाइयां डॉक्टर द्वारा Prescribed की जायेगी वह भी खाना है। पानी ज्यादा पीना है Healthy Diet लेना है हरी पत्तेदार सब्जियां खाना ठीक रहेगा।

Leave a Reply