बीएमएलटी कोर्स क्या है कैसे करें (BMLT Course in Hindi)

बीएमएलटी कोर्स क्या है कैसे करें। मेडिकल कोर्स चुनने के कई कारण है, चिकित्सा प्रयोगशालाओं के कारण बीमारियों के इलाज के लिए आवश्यक दवाएं उपलब्ध है, यह एक ऐसा क्षेत्र है जो व्यक्तियों के जीवन को बचाता है, टेस्टिंग से लेकर एनालिसिस, क्रिएटिंग, इनोवेशन तक सब कुछ कोर्स का अनिवार्य हिस्सा है। क्लिनिकल पैथोलॉजी में चिकित्सा उद्योग की रीड़ है। इन तकनीकों के बिना आधुनिक चिकित्सा उद्योग अधूरी है बीएमएलटी के कोर्स के साथ छात्र को दुनिया के किसी भी हिस्से में नौकरी मिल सकती है चिकित्सा प्रयोगशाला प्रतियोगी की पाठ्यक्रम का सार्वभौमिक मूल्य है।

दोस्तों आज की जानकारी में हम बात करने वाले हैं सर्वाधिक पॉपुलर कोर्स के बारे में जिसका नाम है मेडिकल लैब टेक्नीशियन (बीएमएलटी कोर्स) के बारे में, इस जानकारी में बीएमएलटी क्या है बीएमएलटी कोर्स कैसे करें बीएमएलडी कोर्स करने के बाद सैलरी कितनी होगी, यह सब डाउट आज की इस जानकारी में हम क्लियर करेंगे।

बीएमएलटी कोर्स क्या है कैसे करें

मेडिकल लैबोरेट्री टेक्नोलॉजी बीएमएलटी में स्नातक, इसे क्लीनिकल लेबोरेटरी के रूप में भी जाना जाता है या एक 3 साल का स्नातक कार्यक्रम है जिसे कक्षा बारहवीं पूरा काम होने के बाद या जाता है क्या एक कैरियर अच्छा पाठ्यक्रम है और पैरामेडिकल साइंस में सबसे अधिक मांग किए जाने वाले पाठ्यक्रमों में से एक है।

दोस्तों मेडिकल लैब टेक्नीशियन की डिमांड हमारे देश में बहुत ज्यादा है आजकल लगभग सभी डॉक्टर पेशेंट को छोटी से छोटी बीमारी के लिए भी ब्लड टेस्ट लिखते हैं और उसके रिपोर्ट के आधार पर ही आगे का ट्रीटमेंट करते हैं यह सभी टेस्ट लैब टेक्नीशियन ही कर पाते हैं इसके चलते छोटे से छोटे शहरों में काफी पैथोलॉजी खुल गई है और मेडिकल लैब टेक्नीशियन की डिमांड काफी ज्यादा है।

बीएमएलटी कोर्स क्या है (What is BMLT Course)

बैचलर आफ मेडिकल लैबोरेट्री टेक्नोलॉजी 3 साल का अंडर ग्रैजुएट कोर्स है यह प्रत्येक वर्ष के लिए 2 सेमेस्टर के साथ 6 सेमेस्टर वाला एक कोर्स है। यह एक ऐसा कोर्स है जो छात्रों को स्वास्थ्य सेवा उद्योग के क्षेत्र में विभिन्न पदो के बारे में जानकारी प्रदान करता है। इसके पाठ्यक्रम का महत्व पूर्ण अंग शरीर के तरल पदार्थों का विश्लेषण है इसमें रुधिर विज्ञान, प्रतिरक्षा विज्ञान और जीवाणु विज्ञान में और रसायन पर विश्लेषण किया जाता है प्रयोगशाला प्रक्रियाओं के बारे में छात्रों के लिए व्यापक ज्ञान प्रदान करते हैं।

डीएमएलटी का पूरा नाम क्या है (BMLT Full Form)

बीएमएलटी की फुल फॉर्म है बैचलर डिग्री ऑफ मेडिकल लैबोरेट्री टेक्नोलॉजी (bachelor degree medical laboratory and technology)

बीएमएलटी करने के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए (BMLT Eligibility)

आवेदक इस कोर्स को करने के लिए 10+2 में भौतिक, रसायन विज्ञान और जीव विज्ञान में कम से कम 50% अंक होना जरूरी है। कुछ ऐसे प्रदेश है जहां पर पीसीएम छात्रों को भी बीएमएलटी में एडमिशन मिल जाता है।

बीएमएलटी की फीस कितनी है (BMLT Fees)

अगर हम बीएमएलटी की फीस की बात करें तो गवर्नमेंट कॉलेज में इसकी फीस 5000 से 10000 सालाना होती है और प्राइवेट कॉलेज में 60000 से 70000 साला ना इसकी फीस होती है।

बीएमएलटी कोर्स में क्या करना होता है

बीएमएलटी कोर्स में आपको बायोकेमेस्ट्री, पैथोलॉजी, माइक्रोबायोलॉजी, ब्लड बैंक इन क्लिनिकल हेमेटोलॉजी लैब मैनेजमेंट ह्यूमन साइकोलॉजी, ह्यूमन एनाटॉमी जैसे सब्जेक्ट पढ़ाए जाते हैं।

बीएमएलटी 3 साल का अंडर ग्रेजुएशन कोर्स है इसमें सभी तरह के क्लिनिकल टेस्ट के बारे में सिखाया जाता है इसमें आपको ब्लड सैंपल कलेक्ट कैसे करना है यूरीन सैंपल कैसे कलेक्ट करना है स्टूल सैंपल कैसे कलेक्ट करना है ब्लड ट्रांसफ्यूजन कैसे करना है आदि इस तरह की सभी जानकारी दी जाती है।

इसके साथ साथ जितने भी लैब इक्विपमेंट होते हैं उनका इस्तेमाल करना सिखाया जाता है आजकल ज्यादातर लेटेस्ट इक्विपमेंट और किट्स के थ्रू जो क्लिनिकल टेस्ट परफॉर्म किया जाता है जिसकी जानकारी और प्रोफेशनल ट्रेनिंग आपको मेडिकल लैब टेक्नीशियन में दी जाती है।

बीएमएलटी की सेलेब्स (BMLT Syllabus)

बीएमएलटी की सिलेबस की बात करें तो 3 वर्षों के मुख्य विषय और उन 3 वर्षों में 6 सेमेस्टर के आधार पर मुख्य विषय इस प्रकार हैं।

Year.1

  1. Human psychology
  2. Human anatomy
  3. Biochemistry
  4. Health education and communication
  5. Bio-medical waste management

Year.2

  1. Terminology and general plan of the body
  2. Musculoskeletal system
  3. Respiratory system
  4. Digestive system

Year.3

  1. The Nurve system
  2. Special senses
  3. Genitourinary system
  4. Endocrine system

बीएमएलटी में प्रवेश कैसे कराए (बीMLT Addmission)

ज्यादातर कॉलेज में डीएमएलडी कोर्स एडमिशन 12th के मार्कशीट के मेरिट बेस पर पर डायरेक्ट मिल सकता है, कुछ गवर्नमेंट कॉलेज है जहां पर आपको एडमिशन मेडिकल एट्रेंस के बेस पर मिलता है पर ज्यादातर प्राइवेट और गवर्नमेंट कॉलेज में आपको मेरिट बेस पर आसानी से एडमिशन मिल जाता है।

बीएमएलटी पाठ्यक्रम में प्रवेश आमतौर पर योग्यता के आधार पर होता है छात्रों का आवश्यक संस्थानों में आवेदन पत्र को भरना है और पूछे गए सभी दस्तावेजों को अपलोड करना आवश्यक है। संस्थान छात्रों को उनके पिछले शैक्षणिक रिकॉर्ड के आधार पर लिस्ट करेंगे और इसके बाद संस्थान में दस्तावेज सत्यापन किया जाएगा। प्रवेश प्रक्रिया कॉलेज से अलग-अलग होती है कुछ संस्थान विश्वविद्यालय स्तर की प्रवेश परीक्षा के माध्यम से छात्रों का चयन करते हैं इसके बाद व्यक्तिगत साक्षात्कार हो सकते हैं लेकिन भारत में अधिकांश संस्थान योग्यता के आधार पर बीएमएलटी के लिए प्रवेश लेते हैं

बीएमएलटी करने के बाद नौकरी (After BMLT Job Scope)

मेडिकल टेक्नोलॉजी में स्नातक के पास चिकित्सा उद्योग बहुत बड़ा दायरा है वे निजी और सरकारी दोनों क्षेत्रों में काम कर सकते हैं अपना करियर बना सकते हैं।

बीएमएलटी कोर्स करने के बाद आप लैबोरेट्री टेक्नोलॉजी, मैनेजर, सुपरवाइजर, हेल्थ केयर एडमिनिस्ट्रेटर जैसे करियर प्रोफाइल के लिए आप अप्लाई कर सकते हैं हॉस्पिटल नर्सिंग होम्स डायग्नोस्टिक लैबोरेट्री जैसे फार्मर लाइव वर्ल्ड बैंक थायरोकेयर लाल पैथोलॉजी में आप जॉब के लिए अप्लाई कर सकते हैं। और अगर आप चाहे रिसर्च और लैब सेंटर में भी जॉब कर सकते हैं।

बीएमएलटी की वेतन (BMLT Sallary)

अगर आप बीएमएलटी कोर्स करते हैं तो आपको इसमें सैलरी 10,000 से 15000 स्टार्टिंग में मिलती है अधिक अनुभव होने के बाद आपको एक अच्छी सैलरी 25 से 30,000 की आसानी से मिल जाती है।

क्या बीएमएलटी करने के बाद अपना खुद का लैब पैथोलॉजी खोल सकते हैं

बीएमएलटी कोर्स करने के बाद सबसे अच्छा एंप्लॉयमेंट जहां से आप को सबसे ज्यादा इनकम आ सकती है वह अपनी खुद की लैब खोलना, आप चाहे डीएमएलटी कोर्स करें या फिर बीएमएलटी कोर्स करें यदि आप चाहते हैं अपना खुद का लैब खोलना तो आप खोल सकते हैं और अच्छी कमाई कर सकते हैं।

लेकिन अच्छा यही होगा कि आप डीएमएलटी करने के बाद तुरंत अपना लैब ना खोलें डीएमएलटी कोर्स पूरा होने के बाद आप 2 या 3 साल एक्सपीरियंस जरूर लेना चाहिए और मेडिकल प्रोसीजर को समझना चाहिए आपको अपने लैब के लिए कौन-कौन से इक्विपमेंट एंड इंस्ट्रूमेंट की जरूरत होगी इसके बारे में भी जानकारी को हासिल करें।

और स्टेट गवर्नमेंट के क्या-क्या रूल्स है क्या-क्या फॉर्मेलिटीज है इसकी भी जानकारी होना बहुत जरूरी है कितनी इन्वेस्टमेंट आपको करनी होगी इसके बारे में भी जानकारी होना जरूरी है।

इसके बाद सबसे जरूरी है आपके साथ एक पैथोलॉजिस्ट डॉ का होना क्योंकि आप बीएमएलटी कोर्स करने के बाद टेस्ट कर सकते हैं लेकिन आप एक वैलिड रिपोर्ट पेशेंट को नहीं दे सकते हैं क्योंकि सभी रिपोर्ट पर पैथोलॉजिस्ट के साइन होते हैं एक रिपोर्ट तभी वैलिड होती है जब पैथोलॉजिस्ट उसे वैलिडेट करता है और उनके उसपर उनके साइन होते हैं आप किसी भी पैथोलॉजिस्ट डॉ के साथ टाइउप कर सकते हैं या फिर सालाना कॉन्ट्रैक्ट कर सकते हैं।

Leave a Reply