D Rise sachet in Hindi-डी राइस ग्रेन्यूल्स फायदे,उपयोग और दुष्प्रभाव क्या है ?

दोस्तों आज की इस जानकारी में हम जानेंगे D Rise Sachet पाउडर के बारे में जब हमारी त्वचा सूर्य की रोशनी के संपर्क में आती है। तो हमारा शरीर विटामिन डी बनाता है। सनस्क्रीन, सुरक्षात्मक कपड़े, सूरज की रोशनी के सीमित संपर्क, गहरे रंग की त्वचा और उम्र सूरज की रोशनी के अवशोषण को कम कर सकते हैं।

d-rise-Sachet-in-hindi

नतीजतन शरीर में विटामिन डी के उत्पादन की दर प्रभावित होती है और इसके परिणामस्वरूप विटामिन डी3 की कमी हो सकती है। इस प्रकार इस सचेत में विटामिन डी3 शरीर में कैल्शियम के बेहतर और शोषण के लिए विटामिन डी3 को बनाए रखने में अतिरिक्त सहायता प्रदान करता है। इसके साथ ही आंत से कैल्शियम और फास्फोरस के अवशोषण में मदद करने में इस विटामिन की महत्वपूर्ण भूमिका होती है।

  • दावा का नाम– D Rise Sachet
  • कंपोजिशन/सामग्री– कोलकाल्सिफेरोल (Vitamin D3 6000 IU/gm)
  • कंपनी-USV Ltd
  • दावा का प्रकार– पाउडर (विटामिन/सप्लीमेंट)
  • उपयोग– विटामिन डी की कमी (हड्डी विकार)

D Rise Sachet क्या है ?

भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद भारतीयों के लिए विटामिन डी3 के 400 IU प्रदान के दैनिक पूरक की सिफारिश की जाती है। इसमें विटामिन डी की पर्याप्त मात्रा प्राप्त करने के लिए बाहरी गतिविधियों पर जोर दिया जाता है। विटामिन डी की कमी आपको कई स्वास्थ्य जटिलताओं से ग्रस्त कर सकती है जैसे ओस्टियोपोरोसिस संक्रमण एलर्जी ऑटोइम्यून रोग हृदय रोग तपेदिक अवसाद और यहां तक के कैंसर भी।

शरीर में विटामिन डी3 के स्तर को बनाए रखने की सलाह दी जाती है अनुवांशिक खुराक से अधिक ना लें क्योंकि इससे विभिन्न दुष्प्रभाव हो सकते हैं जिनमें हड्डियों से कैल्शियम की अधिक हानि हो सकती है यदि आपको कोई संदेह है या खुराक जानना चाहते हैं तो इसे लेने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श जरूर लें।

D Rise Sachet सामग्री

D Rise Sachet एक पाउडर के रूप में होता है जिसमें कॉलेकैल्सिफेरॉल ग्रेन्यूल्स (विटामिन डी) होता है।

डी राइस सचेत काम कैसे करता है ?

डी राइस सचेत इस्तेमाल क्यों करते है (D Rise Sachet Use in Hindi) ?

इसका उपयोग विटामिन डी के कमी होने पर किया जाता है ऑस्टियोपोरोसिस और हड्डियों के विकार वाले लोगों में मजबूत हड्डियों को बनाए रखने और आपके आस्तिक खनिज घनत्व में सुधार करने के लिए भी सिफारिश की जाती है।

यह वसा में घुलनशील विटामिन डी3 की उपस्थिति को भोजन से कैल्शियम को अवशोषित करने में मदद करती है यह शरीर को हड्डियों के स्वास्थ्य कैल्शियम और फास्फोरस के लिए आवश्यक दो खनिजों के प्रयास स्तर को बनाए रखने में भी मदद करता है। यह आगे शरीर की हड्डियों के स्वास्थ्य को बनाए रखने में सक्षम बनाता है।

D Rise Sachet के फायदे ?

  • इसमें डी राइस सचेत होता है जिसे विटामिन डी3 के रूप में भी जाना जाता है जो शरीर की उचित विकास और विकास में मदद करने के लिए जाना जाता है।
  • आंतो से कैल्शियम के अवशोषण को बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।
  • विटामिन डी3 की कमी के उपचार में मदद करता है और लक्षणों में सुधार करता है।
  • पाचन तंत्र द्वारा विटामिन डी3 के अपर्याप्त अवशोषण के कारण शरीर में विटामिन डी3 के स्तर में सुधार करता है।
  • हड्डियों और दातों को मजबूत रखने में मदद करता है।
  • हड्डी के दर्द और पीठ दर्द जैसे लक्षणों के उपचार में सहायता करते हुए हड्डियों के घनत्व में सुधार करता है।
  • हड्डी के कार्य को बनाए रखने और पैरों पसलियों और जोड़ों में दर्द को कम करने में मदद करता है।
  • वसा अवशोषण वालों लोगों में विटामिन डी3 के स्तर में सुधार करता है जिनकी आहार से वसा को अवशोषित करने में विफल रहती है।

D Rise Sachet का इस्तेमाल कैसे करते हैं ?

चलिए जान लेते हैं इसका इस्तेमाल कैसे किया जाता है

पाउच को पढ़िए और पाउडर को एक गिलास में डालकर पानी के साथ ले सकते है। या आप अपने डॉक्टर की सलाह के अनुसार ले सकते हैं। लेकिन अच्छा होगा यदि आप इसे दूध के साथ ले ऐसा इसलिए है क्योंकि दूध में मैं वैसे भी होता है जो वसा में घुलनशील विटामिन के अवशोषण को बढ़ावा देता है।

D Rise Sachet के दुष्प्रभाव

शरीर में कैल्शियम की मात्रा अधिक हो जाने पर-हालांकि ये बहुत आम नहीं है विटामिन डी का स्तर शरीर में सामान्य सीमा से अधिक हो जाता है। यह आमतौर पर विटामिन ए की खुराक की अधिक मात्रा के कारण होता है। रक्त में विटामिन डी के बड़े स्तर से पाचन तंत्र में कैल्शियम का अवशोषण बढ़ जा सकता है इसके परिणामस्वरूप रक्त में कैल्शियम का स्तर बढ़ सकता है हाइपरकैल्सीमिया गंभीर मामलों में यह गुर्दे की विफलता और धमनी कैलशिफिकेशन (कैल्शियम के जमाव के कारण धमनियों का सख्त होना) का कारण बन सकता है।

  • उल्टी/मतली
  • दस्त
  • त्वचा पर लाल चकते
  • हाइपरकैल्सीमिया

D Rise Sachet खास टिप्स

  • अधिकांश दवाओं की तरह इस सप्लीमेंट को खाली पेट या भोजन के बीच में नहीं लेना चाहिए और अवशोषण सुनिश्चित करने के लिए इन सप्लीमेंट को अपने चिकित्सक द्वारा सलाह के अनुसार लेना चाहिए।
  • D Rise Sachet की खुराक कई दवाओं के साथ परस्पर क्रिया कर सकती है।
  • इसलिए अपने डॉक्टर से उन दवाओं के बारे में बात करें जो आप ले रहे हैं।
  • प्रभावी प्रणाम के लिए अपने चिकित्सक से परामर्श करना उचित रहेगा।
  • जो दवा के पेशेवरों और विपक्ष ओं का वजन करेगा और फिर सही खुराक और पूरा के प्रकार की जानकारी देगा।
  • यदि आपको एक भूल जाते हैं तो जैसे ही आप याद आए इसे ले ले हालांकि अगर खुराक समय हो गया है तो छूटी हुई खुराक को छोड़ दें और अगली खुराकु निर्धारित समय पर लें।
  • विटामिन डी3 की कमी को आहार के माध्यम से या सूरज की रोशनी और पूरक आहार के माध्यम से विटामिन डी का सेवन बढ़ाकर किया जा सकता है।

D Rise Sachet संबंधित अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

डी राइस सचेत कैसे खाएं ?

डी राइस की अनुवांशिक खुराक प्रतिदिन एक पाउच है आदि मानता भोजन के दौरान आपको बस इतना करना है कि पहुंच की सामग्री को एक गिलास पानी या दूध में डाल दें यह सुनिश्चित करने के लिए की सभी अब वे अच्छी तरह मिश्रित है, नहीं तो चम्मच द्वारा हिलाएं। और पी ले।

डी राइस लेने का सबसे अच्छा समय क्या है ?

हालांकि विटामिन डी3 कैप्सूल भोजन के साथ या भोजन के बिना लिया जा सकता है भोजन के बाद मौखिक रूप से लेने पर सबसे अच्छा और सूचित किया जाता है आदर्श रूप से विटामिन डी3 की खुराक दिन के सबसे बड़े भोजन के साथ या दूध के साथ लेना चाहिए।

विटामिन डी का कौन सा रूप सबसे अच्छा है ?

विटामिन डी1 वसावे घुलनशील विटामिन है जो स्वाभाविक रूप से बहुत कम खाद्य पदार्थों में मौजूद होता है विटामिन डी की खुराक दो रूपों में उपलब्ध है विटामिन डी2 (एग्रोकैल्सीफेरोल या प्री विटामिन डी) और विटामिन डी3 (कॉलेकैल्सिफेरॉल) जहां विटामिन डी2 का उत्पादन पौधों और कवक में होता है वही विटामिन डी3 का उत्पादन मनुष्यों सहित जानवरों में होता है यह दोनों रूप विटामिन डी2 और विटामिन डी3 मेडिकल स्टोर्स में over-the-counter पूरक आहार के रूप में उपलब्ध है।

जहां विटामिन d2 का इस्तेमाल लंबे समय से डॉक्टर के पर्चे की दवाओं में किया जाए जाता है वही विटामिन d3 भी विटामिन डी के स्तर को बढ़ाने में उतना ही प्रभावी पाया गया है। इसीलिए पूरक के रूप के बावजूद यह सलाह दी जाती है कि की विटामिन का दैनिक सेवन या तो आहार या पूरक के माध्यम से सुनिश्चित करें।

क्या मैं डी राइस को दूध के साथ ले सकता हूं

इस उत्पाद को दूध के साथ लेने की सलाह दी जाती है क्योंकि यह बेहतर अवशोषण में मदद करता है आपको बस इतना करना है कि पाउच को पढकर एक गिलास में पाउडर डालें और दूध डालें। चिकित्सक के निर्देशानुसार मिश्रण की सुनाई गई मात्रा का सेवन करें।

क्या हर दिन या सप्ताह में एक बार विटामिन डी लेना बेहतर है।

विटामिन डी की खुराक आपके शरीर में विटामिन d3 के अस्तर और आपकी स्वास्थ्य समस्या (जिसमें आपकी स्थिति की गंभीरता भी शामिल है) पर निर्भर करेगा इसलिए अपनी स्थिति और अपनी खुराक की आवश्यकता के विस्तृत विश्लेषण के लिए अपने डॉक्टर से परामर्श करना सबसे अच्छा होगा हालांकि कुछ अध्ययनों ने साबित किया है कि दैनिक विटामिन डी सप्ताहिक से अधिक प्रभावी था तो आप के लिए उपयुक्त सही खुराक जानने के लिए अपने डॉक्टर से बात करें

विटामिन डी3 की कमी के लक्षण और क्या है

ऐसी कोई पोस्ट संकेत नहीं है जो विटामिन डी की कमी का संकेत दे सकते हैं यही वजह है कि अधिकांश लोग किसी भी संभावित कमी से अनजान रहते हैं शरीर में विटामिन डी का निम्न स्तर आपको संक्रमण के प्रति अधिक संवेदनशील बना सकता है और बालों के झड़ने का कारण बन सकता है कुछ लोग थका हुआ थकान उदास हड्डियों में दर्द और मांसपेशियों में दर्द का अनुभव भी कर सकते हैं।

D Rise Sachet लेने का सबसे अच्छा समय क्या है

हाला के D Rise Sachet भोजन के साथ या पूजन के बिना लिया जा सकता है। भोजन के बाद मौखिक रूप से लेने पर इन कैप्सूल ओं को सबसे अच्छा अवशोषित किया जाता है आदर्श रूप से विटामिन डी3 की खुराक दिन के सबसे बड़े भोजन के साथ या दूध के साथ लेनी चाहिए।

D Rise Sachet के सुरक्षा संबंधी सलाह

  • उपयोग करने से पहले लेबल और इसके बारे में ध्यान से पढ़ ले।
  • सलाह दी गई खुराक से अधिक ना लें।
  • बच्चों की नजर और पहुंच से दूर रखें।
  • अपने चिकित्सक के बताएं अनुसार ही इसका इस्तेमाल करें।

चेतावनी-किसी भी तरह की दवा का सेवन करने से पहले चिकित्सक का परामर्श जरूर लें। Mybestindia द्वारा दवा के बारे में बताई गई जानकारी उपभोक्ता को शिक्षित करने के लिए है। इस वेबसाइट का यह मतलब नहीं है कि किसी भी दवा को अपने ही द्वारा उपयोग। किसी भी प्रकार की दवा को लेने से पहले कृपया चिकित्सक का परामर्श जरूरी है।

Leave a Reply