Home खेती एवं किसानी अनाज की खेती धान की फसल में दीमक से छुटकारा पाने के लिए करें ये...

धान की फसल में दीमक से छुटकारा पाने के लिए करें ये उपाय?

फसलों में कई प्रकार के कीट होते हैं। दीमकों सहित. दीमक फसलों को सबसे ज्यादा नुकसान पहुंचाती है। अच्छी पैदावार के लिए दीमक पर नियंत्रण आवश्यक है। धान के अलावा दीमक कई अन्य फसलों जैसे गेहूं, मक्का, गन्ना, ज्वार, बाजरा आदि को भी प्रभावित करती हैआइये धान की फसल में दीमक से होने वाले नुकसान एवं उसके नियंत्रण के बारे में विस्तृत जानकारी प्राप्त करें।

दीमक की पहचान

  • दीमक समूह में रहने वाले बहुभक्षी कीट हैं।
  • ये कीड़े हल्के पीले या भूरे रंग के होते हैं।

धान की फसल में दीमक से नुकसान

  • ये कीट मिट्टी में सुरंग बनाकर पौधों के बीज या जड़ों को नुकसान पहुंचाते हैं।
  • इसके अलावा ये पौधों के तने को खाकर फसल को भी नष्ट कर देते हैं।

दीमक नियंत्रण के तरीके

  • कच्चे गोबर में दीमक पनपने का खतरा सबसे अधिक रहता है। इसलिए खेत में कच्चे गोबर का प्रयोग न करें.
  • दीमक प्रभावित क्षेत्रों में बुआई से पहले प्रति एकड़ खेत में 30 किलोग्राम नीम की खली मिलायें।
  • दीमक के प्रकोप से बचने के लिए प्रति किलोग्राम बीज को बुआई से पहले इमिडाक्लोप्रिड 20 ईसी @ 5 मिली से उपचारित करना चाहिए।
  • इसके अलावा 5 मिली इमिडाक्लोप्रिड 20 ईसी प्रति लीटर पानी में मिलाकर भी छिड़काव कर सकते हैं.

हमें उम्मीद है कि यह जानकारी आपके लिए महत्वपूर्ण साबित होगी। अगर आपको यह जानकारी पसंद आई तो इस पोस्ट को लाइक करें और इसे अन्य किसानों के साथ शेयर भी करें. ताकि अधिक से अधिक किसान मित्र इस जानकारी का लाभ उठा सकें और धान की फसल को दीमक के प्रकोप से बचा सकें। इससे जुड़े अपने सवाल हमसे कमेंट के जरिए पूछें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here