एमबीबीएस क्या है MBBS Doctor कैसे बने पूरी जानकारी ?

हेलो स्टूडेंट लाइफ में सभी का कोई न कोई टारगेट जरूर होता है, तो ऐसे में आज हम आपके लिए एक Topic को लेकर आये है पहले तो Mybestindia में आपका बहुत बहुत स्वगत है, आज हम जानेंगे कि MBBS की तैयारी कैसे करें या Mbbs Doctor कैसे बनते है.एल। यदि आपका भी Doctor बनने की इच्छा है। तो आप MBBs को अपने Carriar में जोड़ कर एक Succsess Doctor बन सकते है।

MBBS-doctor-kaise-bane

तो आज इस जानकारी के जरिये आप Mbbs की पढ़ाई कैसे करें और एक Mbbs doctor बनने के लिए क्या करना पड़ेगा। सब जानेंगे बहुत से स्टूडेंट है जो डॉक्टर बनने की इच्छुक है पर उन्हें पता नही है कि एमबीबीएस डॉक्टर कैसे बना जाता है।आपके भी मन मे ऐसे ही कुछ Question आ रहे होंगे की 12th Biology के बाद हम क्या करे।

Mbbs करने के लिए क्या Qualification होनी चाहिए ?

एमबीबीएस एक  undergraduation डिग्री है। यह कोर्स हमें ग्रेजुएट एंड पोस्ट ग्रेजुएट लेवल की डिग्री प्रोवाइड करता है। जैसे हम बीएससी और एमएससी करते है वैसे ही लेकिन यह 5 साल की डिग्री होती है हां पोस्ट ग्रेजुएशन पर हम इंटर्नशिप नहीं करते लेकिन इस लेवल पर इंटर्नशिप 1 साल के लिए करना पड़ता है। इस तरीके से हमें टोटल 5.6 वर्ष तक की पढाई करनी पड़ते है।

यह एसी डिग्री है जिसको पूरा करने के बाद छात्र अपने नाम के आगे “Doctor” शब्द प्रयोग कर सकते हैं। यह उन लड़कों या स्टूडेंट्स की पहली व् सबसे favourite choice होती है जो अपना 10+2 Physics ,chemistry and biology से पूरा करते है। अवधि और सामाजिक प्रतिष्ठा के अनुसार दुनिया का सबसे बड़ा और प्रोफेशनल कोर्स है।

एमबीबीएस की डिग्री उन उम्मीदवारों के लिए एक अंडरग्रेजुएट कोर्स है जो डॉक्टर बनने के अपने सपने को पूरा करना चाहते है। बैचलर ऑफ मेडसिन एंड बैचलर ऑफ सर्जरी चिकित्सा विज्ञान में एक उच्च डिग्री है। एमबीबीएस कोर्स पूरा करने और डिग्री प्राप्त करने के बाद छात्र मेडिकल प्रैक्टिशनर या डॉक्टर के रूप में योग्य हो जाते हैं।

एमबीबीएस डिग्री की अवधि 5 साल और 6 महीने है। जिसमें लाभकारी गैर-लाभकारी संगठन एनजीओ द्वारा आयोजित अस्पतालों स्वास्थ्य केंद्रों और स्वास्थ्य शिविरों में 1 साल की रोटेशनल इंटर्नशिप शामिल है।

M.B.B.S का full-Form क्या है ?

MBBS का full-Form है Bachlor of Medicine and Bachlor Of Surgery है। जिसमे M.B and B.S. आपको 2 वर्ड दिख रहे होंगे जिसमे Bachlor of Medicine और Bachelor of Surgery है।

एमबीबीएस के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए (Eligibility)

प्राथमिकता तो ये है कि इसमें प्रवेश पाने के लिए हमें सबसे पहले भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान और जीवविज्ञान के साथ अपनी 10 + 2 शिक्षा पूरी करनी होती है और न्यूनतम 50% अंक (आरक्षित वर्ग के मामले में 40%) स्कोर करना है।

एमबीबीएस की उम्र सीमा क्या होनी चाहिए (Age Limit)

छात्र की आयु कम से कम 17 वर्ष होनी चाहिए। और अधिकतम कितना होना चाहिए यह मामला अभी पेंडिंग में है। जैसा कि हमने आपको ऊपर की जानकारी में बताया इसके लिए आपको NEET पास करना अनिवार्य है।

MBBS Doctor कैसे बने ?

आप सभी को बताना चाहता हु की पहले आपको NEET Exam को पास करना होगा तभी आप एमबीबीएस कर सकते है। जिसमें भारत के लगभग सभी सरकारी एवं प्राइवेट मेडिकल कॉलेज शामिल हैं। लेकिन AIIMS, JIPMER ऐसे दो संस्थान है जो अब अपना एंट्रेंस एग्जाम खुद ही कराते है।

पूरे भारत के किसी भी मेडिकल कॉलेज में एडमिशन लेने के लिए छात्रों को अब नीट प्रवेश परीक्षा पास करना होता है उसके बाद ही उसे एमबीबीएस कोर्स में एडमिशन मिलता है ! नीट का एग्जाम, बोर्ड परीक्षा के बाद होता है अप्रैल के आखिरी सप्ताह या मई के पहले हफ्ते में संपन्न होता है !

एमबीबीएस पाठ्यक्रम में विषय (MBBS syllabus)

एमबीबीएस पाठ्यक्रम में इच्छुक डॉक्टर ना केवल चिकित्सा और स्वास्थ्य देखभाल उद्योग में और उसके आसपास कुछ सब कुछ सीखते हैं बल्कि भी नैतिक प्रथाओं को भी सीखते हैं।

  1. Anatomy
  2. biochemistry
  3. physiology
  4. forensic medicine and toxicology
  5. microbiology
  6. pathology
  7. pharmacology
  8. anesthesiology
  9. community medicine
  10. dermatology and Venereology
  11. medicine
  12. obstructive and gynaecology
  13. ophthalmology
  14. orthopedics
  15. Otorhinolaryngology
  16. Paediatric
  17. psychiatry
  18. surgery

एमबीबीएस कोर्स फीस (MBBS Fees)

दोस्तों आपने सुना होगा की एमबीबीएस की पढाई बहुत महंगी होती है। लेकिन ये उन के लिए जो अच्छे से पढाई नहीं करते है या जिनकी रैंक अच्छी नहीं होती है यदि आपका अच्छा रैंक है तो आप 1650 रुपए पार्टी साल देकर एमबीबीएस की पढ़ाई कर सकते है।

भारत में एमबीबीएस कोर्स करने के लिए प्राइवेट एवं सरकारी कॉलेज दोनों मौजूद लेकिन इस की फीस में काफी अंतर होता है। वैसे सरकारी कॉलेज में इसका फीस बहुत कम होता है। भरते बहुत से ऐसे संस्थान है जहाँ 45000 से 90000 तक फीस लग सकती है लेकिन थोड़ा बहुत स्कॉलरशिप के रूप में वापस आ जाता है।

फीस मायने रखता है आपने NEET रैंक पर जितना अच्छा रैंक रहेगा उतनी ही कम आपको फीस देनी होगी।

एमबीबीएस फीस भारत के प्राइवेट कॉलेजों में ज्यादा होता है। यह देखा गया है कि 9 लाख से लेकर 12 लाख रुपए प्रति वर्ष की फीस होती है। 5.5 सालों के कोर्स में 4.5 सालों का फीस विद्यार्थी को कॉलेज को देना होता है क्योंकि एक साल का ट्रेनिंग प्रोग्राम होता है जिसमें छात्रों को फीस नहीं देना पड़ता है !

MBBS करने के बाद क्या करे ?

एमबीबीएस के पाठ्यक्रम में एनाटॉमी, फार्मोकोलॉजी पैथोलॉजी के साथ-साथ समुदाय स्वास्थ्य और चिकित्सा बाल रोग और सर्जरी जैसे विषय शामिल है। पाठ्यक्रम को इस तरह से डिजाइन किया गया है कि एमबीबीएस डिग्री धारक आगे की पढ़ाई और दवा का अभ्यास करने के लिए एक विशेषता का चयन कर सकते हैं। एमबीबीएस के छात्रों नेफ्रोलॉजी, कार्डियोलॉजी, गाइनेकोलॉजी एनएसथीसियोलॉजी, ऑर्गन ट्रांसप्लांट, एंडोक्राइन और जनरल सर्जरी जैसे विभिन्न विशेषताओं का विकल्प चुन सकते हैं।

एमबीबीएस करने के बाद करियर के क्या विकल्प है

एमबीबीएस इंटर्नशिप के 1 वर्ष के दौरान छात्र अस्पतालों और स्वास्थ्य केंद्रों के साथ सलाहकार चिकित्सक और क्रिटिकल केयर यूनिट में चिकित्सा सहायक के रूप में काम कर सकते हैं। वह सरकार द्वारा आयोजित स्वास्थ्य अभियानों में भी काम कर सकते हैं और सम्मेलनों के माध्यम से आम जनता में बीमारियों,दवाओं स्वास्थ्य और फिटनेस के बारे में जागरूकता पैदा कर सकते हैं।

एमबीबीएस इंटर्नशिप के पूरा होने पर छात्र मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया (एमसीआई) के साथ खुद को डॉक्टर के रूप में पंजीकृत करवा सकते हैं। वह या तो चिकित्सा विज्ञान में स्नातकोत्तर डिग्री यानी एमडी, एमएस के लिए आवेदन कर सकते हैं या योग्य डॉक्टरों के रूप में स्वास्थ क्षेत्र में काम करना जारी रख सकते हैं।

चिकित्सा विज्ञान में आगे की शिक्षा प्राप्त करते हुए एमबीबीएस डिग्री धारक संसाधन सहयोगी के रुप में फार्मास्युटिकल्स के साथ भी जुड़ सकते हैं। इसके अलावा एमबीबीएस स्नातकों के लिए संयुक्त चिकित्सा सेवा परीक्षा देने का विकल्प भी खुला है उन्हें अस्पतालों, रक्षा क्षेत्र, रेलवे सहित केंद्र सरकार के संगठनों और स्थानीय राज्य सरकार के साथ नियोजित किया जा सकता है।

प्रश्न महत्वपूर्ण पूछे जाने वाले प्रश्न

क्या प्राइवेट कॉलेज में एमबीबीएस करने लायक है ?

हां किसी निजी मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस करने से आपके कैरियर पर कोई असर नहीं पड़ेगा एक निजी मेडिकल कॉलेज में प्रवेश लेने का एकमात्र दूसरा पहलू फीस है एक निजी मेडिकल कॉलेज की ट्यूशन फीस सरकारी मेडिकल कॉलेज से 10 गुना ज्यादा हो सकती है

भारत में एमबीबीएस पाठ्यक्रम की प्रमाणिकता कैसे पता करें ?

किसी भी मेडिकल कॉलेज में प्रवेश लेने से पहले यह जांच लें कि कालेज को मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया एमसीआई से मान्यता प्राप्त है या नहीं यह भी देखें कि क्या कॉलेज विश्वविद्यालय अनुदान आयोग और भारतीय चिकित्सा परिषद आईएमसी द्वारा अनुमोदित है

क्या एमबीबीएस डॉक्टर सर्जरी कर सकते हैं ?

हां एमबीबीएस सर्जरी में स्नातक है कि उसे सर्जरी करने के लिए लाइसेंस दिया जाता है हालांकि सर्जरी एक जटिल प्रक्रिया है और इस विषय में पर्याप्त विशेषता रखने वाले एमबीबीएस पूरा करने के बाद सर्जरी करने का विकल्प चुनते हैं

क्या मैं कक्षा 12 के बाद एमबीबीएस कर सकता हूं ?

हां इस पाठ्यक्रम में शामिल होने के लिए आपको बहुत रसायन विज्ञान जीव विज्ञान और अंग्रेजी के साथ नीट पूरा करना होगा आपको कोर्स सब्जेक्ट पीसीबी ने कम से कम 50% अंक हासिल करने होंगे

क्या हम नीट के बिना एमबीबीएस ज्वाइन कर सकते हैं ?

नहीं हम इस पाठ्यक्रम में शामिल होने के लिए आपको राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा नीट को क्वालीफाई करना होगा यहां तक कि अगर आप मैनेजमेंट कोटा सीट पर विकल्प सुनना चाहते हैं तो भी आपको नींद में क्वालीफाई परसेंटेज हासिल करना होगा

भारत में कौन सा विश्वविद्यालय एमबीबीएस के लिए सर्वश्रेष्ठ है ?

भारत में एमबीबीएस पाठ्यक्रम के लिए बहुत से अच्छे विश्वविद्यालय हैं हालांकि एम्स दिल्ली सबसे अच्छा है इसके लिए कुछ अन्य शीर्ष संस्थानों में एएमसी सीएमसी मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज और लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज शामिल है।

एमबीबीएस की फीस क्या है ?

विभिन्न संस्थानों के लिए डिग्री कोर्स की फीस सरकारी कॉलेज में फीस ₹10000 से ₹50000 के बीच होती है जबकि मेडिकल कॉलेज ₹200000 से लेकर ₹500000 तक की फीस ले सकते हैं ।

एमबीबीएस डिग्री कोर्स की कुल अवधि कितनी होती है ?

एमबीबीएस डिग्री कोर्स पूरा करने के लिए आपको दो चरणों को पूरा करना होगा 4.5 साल की शिक्षा और 1 साल की इंटर्नशिप इसलिए एमबीबीएस डिग्री कोर्स की कुल अवधि 5.5 वर्ष है।

क्या एमबीबीएस पूरा करने के बाद डॉक्टर का प्रयोग किया जा सकता है ?

हां एक बार जब आप एमबीबीएस की अंतिम परीक्षा या हर परीक्षा पास कर लेते हैं तो आपको किसी मान्यता प्राप्त संस्थान अस्पताल से 1 वर्ष की अनिवार्य रोटरी इंटरनेशनल करनी होती है इंटर्नशिप के सफल समापन पर आप अधिकारिक तौर पर अपने नाम के साथ डॉक्टर जोड़ सकते हैं

एमबीबीएस पूरा करने के बाद उच्च शिक्षा के क्या विकल्प है ?

एमबीबीएस पूरा करने के बाद कोई मास्टर आफ सर्जरी एमएस या डॉक्टर ऑफ़ मेडिसिन एमडी कर सकता है विशेषता में डिप्लोमा का विकल्प भी चुन सकते हैं।


Notice: Undefined index: mts_social_button_layout in /home/u711366870/domains/mybestindia.in/public_html/wp-content/themes/mts_schema/functions/theme-actions.php on line 461

Leave a Reply