WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Testosterone injection के उपयोग, फायदे , कीमत, और नुकसान क्या है?

Testosterone injection Benefits, use, Side effects and Price: दोस्तों आज की जानकारी में हम आपको टेस्टोस्टेरोन इंजेक्शन के बारे में inj Testosterone का उपयोग कब किया जाता है. इसके फायदे क्या-क्या हैं। नुकसान क्या क्या है और कीमत के बारे में पूरी डिटेल्स में जानेंगे.

दोस्तो टेस्टोस्टेरोन इंजेक्शन को डॉक्टर की सलाह से लेना उचित रहता है. बिना डॉक्टर की सलाह के कोई भी दवा का उपयोग ना करें। Testosterone injection को मांसपेशी में दी जाने वाली इंजेक्शन है.

Testosterone injection Details

  • Drug Name- Testosterone injection
  • Content (Composition)– Testosterone
  • Manufacturer (Company Name)- Abbott
  • Storage– Store Below 30°C
  • Drug Type– Injection
Drug NameTestosterone injection
Contain Composition (Salt)Testosterone
Chemical ClassInjection
Drug TypeAllopath
ManufacturerGenric name
StorageStore below 30°C
Use ForTreatment of Male hypogonadism

Testosterone Injection Price and Dose

टेस्टोस्टेरोन इंजेक्शन होता है जिसका जेनेरिक नाम है। जिसकी कीमत और एमआरपी ब्रांड मैन्युफैक्टर में होती है।

Does MRP
inj Testosteronenot applicable

टेस्टोस्टेरोन इंजेक्शन क्या है (What is Testosterone Injection)

टेस्टोस्टेरोन इंजेक्शन मांशपेसी में लगाए जाने वाला इंजेक्शन है। जिसका उपयोग पुरुषो में होने कम टेस्टोस्टेरोन लेवल के कारण होने वाले हाइपोगोनैडिज्म के उपचार के लिए किया जाता है। कृपया इसे डॉक्टर को सलाह पर ही लेना उचित रहेगा। ऐसे ही जानकारी के ऊपर कर किसी भी दवा का उपयोग न करें।

ये भी पढ़ें: स्टेरॉयड इंजेक्शन कैसे और कहाँ लगाया जाता हैं?

टेस्टोस्टेरोन इंजेक्शन का उपयोग (Uses of inj Testosterone)

पुरुष में होने वाले हाइपोगोनाडिज्म (टेस्टोस्ट्रोन लेवल कम होने पर) के उपचार के लिए इस इंजेक्शन को डॉक्टर द्वारा प्रेस्क्राइब्ड किया जाता है।

टेस्टोस्टेरोन इंजेक्शन के लाभ (Testosterone injection Benefits)

पुरुष हाइपोगोनाडिज्म का उपचार: पुरुषो में होने वाली हाइपोगोनाडिज्म एक ऐसी समस्या है जिसमें उनके बॉडी में टेस्टोस्टेरोन (पुरुष सेक्स हार्मोन) का उत्पादन नही हो पाता है। टेस्टोस्टेरोन इंजेक्शन इंजेक्शन आपके शरीर में टेस्टोस्टेरोन के लेवल को बेहतर बनाने में मदद करता है।

यह सेक्स को बेहतर बनाए रखने, शरीर की हेल्थ में सुधार करने, मूड अच्छा बनाने में कॉन्फिडेंस को बढ़ाने में मदद करता है। टेस्टोस्टेरोन इंजेक्शन मांसपेशियों के निर्माण और हड्डियों के विकास में भी मदद करता है। इसके कुछ साइड इफेक्ट्स भी हैं इसलिए केवल डॉक्टर की देखरेख में हमेशा इंजेक्शन की सलाह दी जाती है।

टेस्टोस्टेरोन इन्जेक्शन काम कैसे करता है (How to Work Testosterone injection)?

टेस्टोस्टेरोन इन्जेक्शन नेचुरल मेल हार्मोन, टेस्टोस्टेरोन की तरह है. यह एडल्ट पुरुषों में टेस्टोस्टेरोन के कम हुए स्तर को पूरा करके काम करता है। दोस्तो टेस्टोस्टेरोन की कमी से नपुंसकता, बांझपन, सेक्स की इच्छा में कमी, थकान, अवसादग्रस्त मूड और हड्डियों की हानि सहित विभिन्न स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं।

टेस्टोस्टेरोन इन्जेक्शन का इस्तेमाल कैसे करें (How to Use inj Testosterone)

इस इंजेक्शन का उपयोग आपको खुद से नही करना है इसके लिए पहले डॉक्टर से संपर्क करें। डॉक्टर की सलाह पर आपको यह इंजेक्शन डॉक्टर या नर्स के द्वारा दिया जाता है।

ये भी पढ़ें: एड्स क्या है कारण, लक्षण और इलाज क्या है?

टेस्टोस्टेरोन इन्जेक्शन के साइड इफेक्ट (Testosterone injection Side effects)

इस दवा से होने वाले अधिकांश साइड इफेक्ट में डॉक्टर की सलाह लेने की ज़रूरत नहीं पड़ती है और नियमित रूप से दवा का सेवन करने से साइट इफेक्ट अपने आप समाप्त हो जाते हैं, अगर साइड इफ़ेक्ट बने रहते हैं या लक्षण बिगड़ने लगते हैं तो अपने डॉक्टर से सलाह लें।

टेस्टोस्टेरोन के सामान्य साइड इफेक्ट

  • वजन बढ़ना
  • आवाज में परिवर्तन
  • इंजेक्शन वाली जगह पर रिएक्शन (दर्द, सूजन, लालिमा)
  • उल्टी
  • एडिमा (सूजन)
  • पैरों में सूजन
  • एड़ियों में सूजन
  • खांसी
  • हाइपरवेंटिलेशन (तेजी से सांस लेना)
  • खूनी खाँसी
  • Increased erection
  • जोर जोर से सांस लेना

सुरक्षा संबंधी सलाह

Alcohol

अल्कोहल

टेस्टोस्टेरोन इन्जेक्शन 1ML के साथ शराब का सेवन करते समय सावधानी बरतने की सलाह दी जाती है। कृपया अपने डॉक्टर से सलाह लें।

Pregnancy

गर्भावस्था

गर्भावस्था के दौरान Testosterone इन्जेक्शन का इस्तेमाल अत्यंत असुरक्षित है. अपने डॉक्टर की सलाह लें क्योंकि जानवरों और गर्भवती महिलाओं पर किए गए अध्ययनों में इससे विकसित हो रहे शिशु पर हानिकारक प्रभाव देखा गया है।

Breast feeding

Breast feeding

टेस्टोस्टेरोन इन्जेक्शन का स्तनपान के दौरान इस्तेमाल असुरक्षित है। आंकड़ों से पता चलता है कि यह दवा बच्चे में टॉक्सिसिटी कर सकती है।

Driving

ड्राइविंग

आमतौर पर टेस्टोस्टेरोन इन्जेक्शन लेने के बाद गाड़ी चलाने पर कोई दुष प्रभाव नहीं देखा गया है।

Kidney

किडनी

गुर्दे की बीमारी से पीड़ित मरीजों के लिए Testosterone इन्जेक्शन का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए यह असुरक्षित हो सकता है अतः इसे अपने डॉक्टर से सलाह पर ही लें।

Liver

लिवर

लीवर की बीमारी से पीड़ित मरीजों के लिए टेस्टोस्टेरोन इन्जेक्शन का इस्तेमाल असुरक्षित है और उन्हें इसके सेवन से परहेज करना चाहिए, कृपया अपने डॉक्टर से सलाह लें।

बार-बार पूछे जाने वाले प्रश्न

Testosterone इंजेक्शन क्या है और इसका उपयोग किस लिए किया जाता है?

टेस्टोस्टेरोन इंजेक्शन एक इंजेक्टेबल फॉर्म है जिसमें Testosterone (एक पुरुष सेक्स हार्मोन) का सिंथेटिक रूप होता है। इसका उपयोग पुरुष हाइपोगोनाडिज्म (एक ऐसी स्थिति जिसमें शरीर पर्याप्त टेस्टोस्टेरोन का उत्पादन नहीं करता है) के उपचार में किया जाता है

क्या Testosterone इंजेक्शन का उपयोग बॉडी बिल्डिंग के लिए किया जा सकता है?

नहीं, टेस्टोस्टेरोन इंजेक्शन का उपयोग बॉडी बिल्डिंग के लिए लिए नहीं किया जाना चाहिए, क्योंकि अनुचित तरीके से उपयोग किए जाने पर यह हानिकारक दुशप्रभाव हो सकता है।

टेस्टोस्टेरोन इंजेक्शन लगाने के बाद इसका प्रभाव दिखने में कितना समय लगता है?

Testosterone इंजेक्शन लगाने के प्रभाव 3 सप्ताह के बाद दिखाना शुरू होता हैं, कुछ को अधिक समय लग सकता है। उदाहरण के लिए, यौन रुचि पर प्रभाव 3 सप्ताह के बाद दिखाई देता है, जबकि इरेक्शन/स्खलन में बदलाव में 6 महीने तक का समय लग सकता है।

टेस्टोस्टेरोन इंजेक्शन किसे नहीं लेना चाहिए?

टेस्टोस्टेरोन इंजेक्शन ब्रेस्ट कैंसर, प्रोस्टेट कैंसर और किडनी रोगी वाले व्यक्ति को नहीं दिया जाना चाहिए। जिन रोगियों को लीवर कैंसर था या है और जिनके ब्लड में कैल्शियम का लेवल बढ़ा हुआ है, उन्हें इस इंजेक्शन से बचना चाहिए। इसका उपयोग महिलाओं, 18 वर्ष से कम उम्र के बच्चों और 65 वर्ष से अधिक उम्र के बुजुर्ग रोगियों को नहीं किया जाना चाहिए

टेस्टोस्टेरोन इंजेक्शन अधिक खतरा क्या हैं?

पुरुषों में Testosterone इंजेक्शन के उपयोग से जुड़े प्रमुख स्वास्थ्य जोखिम दिल का दौरा, स्ट्रोक और प्रोस्टेटिक कार्सिनोमा हैं।

यदि मैं मधुमेह (Diabetic) रोगी Testosterone इंजेक्शन का उपयोग कर सकते है?

टेस्टोस्टेरोन इंजेक्शन ब्लड में ग्लूकोज के स्तर को कम कर सकता है, और इसलिए, एंटीडायबिटिक दवाओं की खुराक कम की जानी चाहिए। सलाह के लिए अपने डॉक्टर से परामर्श लें.

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Share on:

Leave a Comment