प्याज काटने पर आंसू क्यों आते हैं

आखिर प्याज काटते समय आपकी आंखों में आंसू क्यों आते हैं आज की इस जानकारी में हम इस बात को समझेंगे प्याज काटने पर आंसू क्यों आते हैं। प्याज के पूरे साइंस को समझने के लिए हमें इसके बारे में पूरा जानकारी प्राप्त करना है इसके लिए हम पहले समझते हैं प्याज तैयार कैसे होता है। उसके बाद समझेंगे प्याज में कौन से केमिकल पाए जाते हैं और किस केमिकल की वजह से आंख में आंसू आ जाते हैं।

प्याज-काटने-पर-आंसू-क्यों-आते-हैं

प्याज काटने पर आंसू क्यों आ जाते हैं

प्याज को सबसे पहले इसके बीज को जमीन में बोया जाता है और कुछ महीने बाद दिया प्याज धीरे-धीरे बड़ा हो जाता है जो इस कार्य को करने के लिए प्याज मिट्टी में से खनिज पदार्थों को लेता रहता है। इसका मतलब जो ब्याज को बोलते हैं वो बहुत छोटा रहता है और कुछ महीने बाद यह बड़ा हो जाता है और इस छोटे से बड़े होने में प्याज मिट्टी से काफी सारे न्यूट्रिएंट्स को अपने अंदर एकत्रित कर लेता है। जिसके साथ साथ एक ऐसा नॉन मैटेलिक केमिकल भी एकत्रित कर लेता है जिसका नाम है सल्फर और यही सल्फर इस प्याज के अंदर समय के साथ अमीनो एसिड सल्फोक्साइड्स (Amino acid sulfoxides) में बदल जाता है।

प्याज काटते समय आपने देखा होगा इसके अंदर कुछ सॉफ्ट होता है यही हो सॉफ्ट केमिकल होता है जो प्याज को एक स्वाद देता है और यही वह ऑयली सब्सटेंस है जिसके अंदर मॉलिक्यूल की एक क्लास पाई जाती है जो अमीनो एसिड सल्फोक्साइड्स (Amino acid sulfoxides) होता है।

मिट्टी से निकलकर प्याज जब आपके हाथ में आते ही जैसे ही आप प्याज को काटते हैं तो आपने देखा होगा कि एक चाकू ने प्याज को काटा लेकिन अगर हम माइक्रोस्कोपिक लेवल पर देखा जाए तो चाकू ने प्याज को सेल्स को काटा है। प्याज के सेल के अंदर एक एंजाइम पाया जाता है जिसे लैक्रिमेटरी फैक्टर सिंथेस (Lachrymatory factor synthase) जैसे ही चाकू ने इस प्याज के सेल्स को कट किया, तो लैक्रिमेटरी फैक्टर सिंथेस एंजाइम (Lachrymatory factor synthase enzyme) हवा के संपर्क में आ जाता है।

अबे लग लैक्रिमेटरी फैक्टर सिंथेस एंजाइम अमीनो एसिड सल्फोक्साइड्स (Amino acid sulfoxides) के साथ संपर्क करके उसे सल्फेनिक एसिड में बदल देता है, यह सल्फेनिक एसिड बहुत ज्यादा अनस्टेबल होता है और अपने आपको एक ऐसे केमिकल में रिअरेंज कर लेता है जिसको प्रोनाउंस करने में एक आम आदमी की जीवा में लकवा ही मार जाए और वो केमिकल है सेन प्रोपानेथियल एस ऑक्साइड (Syn-propanthial-S-Oxide) और येसेन प्रोपानेथियल एस ऑक्साइड (Syn-propanthial-S-Oxide) सभी प्रॉब्लम की जड़ है और यही टेंपल हमारी आंखों में उड़ता हुआ आता है जिसकी वजह से प्याज काटते समय हमारे आंखों में आंसू आने लगते हैं।

कैसे प्याज काटते समय आंखों में आंसू आ जाते हैं

अब चलिए हम बात कर लेते हैं कैसे प्याज काटते समय आंखों में आंसू आ जाते हैं क्या आपको पता है आपकी आंखों में आने वाले आंसू 3 तरह के होते हैं।

  1. इमोशनल आंसू यानी कि जब हम बहुत ज्यादा खुश और बहुत ज्यादा दुखी हो जाते हैं तो उस समय हमारी आंखों से जो आंसू आते हैं वह इमोशनल आंसू होते हैं।
  2. रिफ्लेक्स आंसू यानी कि जब भी हमारी आंखों आंखों में कोई तिनका या कोई धूल मिट्टी कोई भी ऐसी चीज जाती है जो हमारी आंखों को नुकसान आने की डैमेज कर सकती है उस चीज को साफ करने के लिए हमारी आंखों से जो आंसू निकलते हैं उन्हें रिफ्लेक्स आंसू कहा जाता है।
  3. बेसल आंसू आपने देखा होगा हमारी आंखें हमेशा थोड़ी सी गीली नाम रहती हैं ये आंसू जो 24 घंटे हमारे आंखों में बने रहते हैं इन्हें बेसल ईयर बोला जाता है इन बिजल आंसू का सबसे महत्वपूर्ण काम है अपनी आंखों को डस्ट डेट और अन्य नुकसान दे माइक्रोपार्टिकल्स को साफ करना।

अब जैसे ही सेन प्रोपानेथियल एस ऑक्साइड (Syn-propanthial-S-Oxide) केमिकल आपके बेजल टियर और कॉर्निया के संपर्क में आएगा तो इन सिलियरी मसल्स की मदद से हमारे दिमाग को पता चलेगा कि हमारी आंखों में कुछ समस्या हो रही है तो हमारा दिमाग तुरंत लेक्रीमल ग्रंथि को तुरंत ऑर्डर देगा कि इस केमिकल को साफ करने के लिए आंसू छोड़ो, और ए लैक्रिमा ग्रंथि जो हमारे आंखों के तुरंत ऊपर होती है। वह तुरंत आंसू छोड़ने लगता है और यह ही सेन प्रोपानेथियल एस ऑक्साइड (Syn-propanthial-S-Oxide) केमिकल जब तक पूरी तरह से साफ नहीं हो जाता तब तक आंसू छोड़ता रहता है।

तो प्याज काटते समय उस प्याज से निकलने वाले केमिकल से हमारी आंखों को बचाने के लिए ही हमें प्याज काटते समय आंसू आते हैं वैज्ञानिकों का यह मानना है कि जानवरों और कीटनाशक से बचने के लिए प्याज में यह केमिकल होते हैं।

प्याज में कौन सा केमिकल पाया जाता है जिस से आंसू आते हैं

प्याज में ही सेन प्रोपानेथियल एस ऑक्साइड (Syn-propanthial-S-Oxide) नामक केमिकल पाया जाता है जिसकी वजह से आंख में आंसू आ जाते हैं।

हमारी आंखों में आंसू कितने प्रकार के होते हैं

हमारी आंखों में आंसू 3 तरह के होते हैं 1.इमोशनल आंसू 2.रिफ्लेक्स आंसू 3.बेसल आंसू

Leave a Reply