Funny Shayari- मजेदार कॉमेडी शायरी कलेक्शन

Funny shayari नई नई कॉमेडी हिंदी शायरी कलेक्शन हिंदी Funny Whatsapp शायरी, फनी फेसबुक शायरी। सोशल मीडिया पर शेयर करने के लिए Funny shayari collection।

New Funny Shayari collection मजेदार कॉमेडी शायरी

Funny shayari collection

उम्र की राह में जज्बात बदल जाते है,
वक़्त की आंधी में हालात बदल जाते है,
सोचता हूँ की काम कर-कर के रिकॉर्ड तोड़ दूँ,
पर ओफिस आते आते ख़यालात बदल जाते है !!


आंसू टपक पड़े बेरोजगार के उस एहसास पर ग़ालिब;
कि आंसू टपक पड़े बेरोजगार के उस एहसास पर ग़ालिब;
जब माँ ने कहा;
“बेटा खाली बैठा है, जा मटर ही छील ले।”


हक़ीकत थी पर ख़्वाब निकला;
दूर था पर पास निकला;
मैं इस बात को क्या कहूं;
ये ज़रदारी तो मुसर्रफ़ का भी बाप निकला।


Funny shayari

दिल की धड़कन रुक सी गई;
सांसें मेरी थम सी गई;
पूछा हमने दिल के डॉक्टर से तो पता चला;
कि सर्दी के कारण आपकी यादें दिल में जम सी गई।


अय दोस्त मत कर इन हसीनाओं से मोहब्बत;
वह आँखों और बातों से वार करती हैं;
मैंने तेरी वाली की आँखों में देखा है;
वो मुझसे भी प्यार करती है।


गिले शिकवे दिल से न लगा लेना;
कभी रूठ जाऊं तो मना लेना;
कल का क्या पता हम हो न हो;
इसलिए जब भी मिलूं;
कभी समोसा और कभी पानी पूरी खिला देना।


काला न कहो मेरे महबूब को;
काला न कहो मेरे महबूब को;
खुदा तो तिल ही बना रहा था;
पर प्याला ही लुढ़क गया।


Funny shayari

वाह गालिब तूने क्या शेर मारा है;
वाह गालिब तूने क्या शेर मारा है;
अरे यार! देख जरा शेरनी कितना रो रही है।


जब कोई इतना ख़ास बन जाये;
उसके बारे में सोचना एहसास बन जाये;
तो मांग लेना खुदा से उसे जिंदगी भर के लिए;
इससे पहले कि उसकी माँ किसी और की सास बन जाये।


खुशबु ने फूलों को ख़ास बनाया;
फूलों ने माली को ख़ास बनाया;
और कमबख्त मोहब्बत ने;
कितनो को देवदास बनाया!


Funny shayari

आसमान में काली घटा छाई है;
आज फिर गर्लफ्रेंड से मार खाई है;
मगर मेरी गलती नहीं है, दोस्तो;
पड़ोस वाली लड़की आज मिनी स्कर्ट पहनकर आई है।


Comedy shayari

अर्ज़ किया है:
मुस्कुराना तो हर लड़की की अदा है;
वाह-वाह।
उसे जो मोहब्बत समझे वो सबसे बड़ा गधा है।


बोतल छुपा दो कफ़न में मेरे;
शमशान में पिया करूंगा;
जब खुदा मांगेगा हिसाब;
तो पैग बना कर दिया करूंगा।


Funny SMS

धड़कन दिल की रुक जाती है;
सांस आकर थम जाती है;
बहुत बुरी हालत होती है, यारो;
जब गर्लफ्रेंड से शादी करने की नौबत आती है।


Funny shayari

उम्मीदों की समां दिल में मत जलाना;
इस जहां से अलग दुनिया मत बसाना;
आज बस मूड में था तो मैसेज कर दिया;
पर रोज इंतज़ार में पलके मत बिछाना।


अर्ज़ किया है:
खुदा बचाये हमें इन हसीनो से;
वाह वाह।
खुदा बचाये हमें इन हसीनो से;

लेकिन इन हसीनो को कौन बचाये, हम जैसे कमीनो से।


तेरी दुनिया में कोई गम ना हो;
तेरी खुशियाँ कभी कम न हो;
भगवान तुझे ऐसी आइटम दे;
जो अग्निपथ की चिकनी चमेली से कम ना हो।


चली जाती है आये दिन वो बियुटी पार्लोर में यूं;
उनका मकसद है, “मिशाल-ए-हूर” हो जाना;
मगर ये बात किसी भी बेगम की समझ में क्यों नहीं आती;
कि मुमकिन नहीं ‘किशमिश’ का फिर से ‘अंगूर’ हो जाना।


चाँद से रोशनी ज्यादा और सितारों से कम निकले;
वाह वाह;
चाँद से रोशनी ज्यादा और सितारों से कम निकले;
जब भी मैं तुझे देखूं मेरी हंसी एक दम निकले!


Hindi funny shayari

कैसे मुमकिन था किसी और दवा से इलाज़?
अय ग़ालिब।
इश्क का रोग था;
.
. .
“माँ की चप्पल से ही आराम आया।”


सवेरा क्या हुआ, सितारों को भूल गए;
सूरज क्या आया, चाँद को भूल गये;
गुजरे क्या पल हमारे मैसेज के बिना;
आप हमें मैसेज करना भूल गये!


हर कामयाबी पर आपका नाम हो;
आपके हर कदम पर दुनिया का सलाम हो;
ठंड का सामना हिम्मत से करना यार;
मैं नहीं चाहता आपको सर्दी लगे या जुखाम हो!


याद तेरी विच सानु चैन कोई ना;
साड्डे उत्ते तेन्नु रहम कोई ना;
होरां नु ता दिन रात मैसेज कित्ते;
पर साड्डे लाई तेरे कोल टाइम कोई ना!


आप जैसे लोग कुछ ख़ास लगते हैं;
दिल में हर वक़्त एक आस रखते हैं;
ना जाने कब हो जाये मुलाकात आपसे;
इसलिए हम एक ‘डिस्प्रिन’ हमेशा अपने साथ रखते हैं!


अपना बच्चा रोये तो दिल में दर्द होता है;
और दूसरे का रोये तो सर में दर्द होता है;
अपनी बीवी रोये तो भी सर में दर्द होता है;
और दूसरे की रोये तो दिल में दर्द होता है!


मेरी सांसो में जो समाया बहुत लगता है;
वही शख्स मुझे पराया भी बहुत लगता है;
उनसे मिलने की तमन्ना तो बहुत है मगर;
आने-जाने में किराया ही बहुत लगता है।


Funny shayari collection

शराब बनी तो मैखाने बने;
हुस्न बना तो दीवाने बने;
कुछ तो बात है आप में;
यूंही नहीं हम “पागल खाने” में।


आपने दिल का हाल बताना छोड़ दिया;
हमने भी गहराई में जाना छोड़ दिया;
होली से पहले ही आपने;
सुबह नहाना छोड़ दिया।
शुभ सर्दी।


मैंने दरवाजा खोला तो:
उसकी आँखों में आंसू, चेहरे पर हंसी थी;
सासों में आहें, दिल में बेबसी थी;
पगली ने पहले नहीं बताया कि

दरवाजे में उसकी ऊँगली फंसी थी।


बेवफा तुम हो तो वफ़ादार हम भी नही;
बेशरम तुम हो तो शरमदार हम भी नही;
प्यार के इस मोड़ पर आकर कहते हो शादीशुदा हो;
तो कुंवारे हम भी नहीं!


हर गम को पाला नही जाता;
काँच की चीज़ों को उछाला नही जाता;
कुछ करना है तो मेहनत करो;
हर बात को ‘आल इज वेल’ कहकर टाला नही जाता!


डाली ने डाली पर नज़र डाली;
किसी ने इस पर डाली;
किसी ने उस पर डाली;
हमने जिसपर नज़र डाली;
उसके बाप ने उसकी शादी कहीं और कर डाली!


ना इश्क कर मेरे यार, यह लड़कियां बहुत सताती हैं;
न करना इन पर एतबार, यह खर्चा बहुत करवाती हैं;
रिचार्ज तुम करवा के देतो हो;
और नंबर मेरा लगाती हैं!


हकीकत समझो या फसाना;
अपना समझो या बेगाना;
हमारा आपका है रिश्ता पुराना;
इसलिये फर्ज था आपको बताना;
ठंड शुरू हो गयी है;
कृपया रोज मत नहाना!


हर तरफ पढ़ाई का साया है;
किताबों में सुख किसने पाया है;
लड़के तो जाते हैं, ट्यूशन लड़कियां देखने;
और सर कहते हैं, देखो बरसात में भी लड़का पढ़ने आया है!


उसने हाथों पर मेहंदी लगा रखी थी;
हमने भी अपनी बारात सजा रखी थी;
क्यूंकि हमें मालूम था वो बेवफा निकलेगी;
इसलिए हमने भी उसकी सहेली पटा रखी थी!


फ़ोन के रिश्ते भी अजीब होते हैं;
बैलेंस रखकर भी लोग गरीब होते हैं;
खुद तो मैसेज करते नहीं;
मुफ्त के मैसेज पढ़ने के शौक़ीन होते हैं!


तुम्हारा हर मैसेज मेरे रोम रोम में गुदगुदी पैदा करता है;
जब भी मैं पढता हूं, मेरा दिल जोर से धड़कता है;
लेकिन क्या करें, कसूर तुम्हारा नहीं है;
यह मोबाइल ही ‘वाईबरेशन मोड’ पर चलता है!


सोचता हूँ कंजूसों का एक डिपार्टमेंट बनाऊ;
चेयरमैन की कुर्सी पर आपको बिठाऊ;
दुनिया से आप को चंदा दिलवाऊ;
ताकि आप से कुछ मैसेज्स तो ले पाऊ!


बेवफा तुम हो तो वफादार हम भी नहीं;
बेशर्म तुम हो तो शर्म दार हम भी नहीं;
प्यार के इस मोड़ पर आकर कहती हो शादी शुदा हो?
तो कुंवारे हम भी नहीं!


हम हो गए तुम्हारे, तुम्हें सोचने के बाद;
अब न देखेंगे किसी को, तुम्हें देखने के बाद;
दुनिया छोड़ देंगे, तुम्हें छोड़ने के बाद;
खुदा! माफ़ करे इतने झूठ बोलने के बाद!


बोतल छुपा देना कफ़न में मेरे;
शमशान में बैठ कर पिया करूँगा;
खुदा मांगेगा जब हिसाब मुझसे;
एक एक पैग बना कर दिया करूँगा!


निकले जो दुनिया की भीड़ में तो ये जाना है;
निकले जो दुनिया की भीड़ में तो ये जाना है;
दुखी है हर वो शख्स, जिसे आज फिर काम पर जाना है!


भूल गए या, भुलाना चाहते हो;
दूर कर दिया, या करना चाहते हो;
अजमा लिया, या अजमाना चाहते हो;
मेसेज कर रहे हो, या अभी और पैसे बचाना चाहते हो?


तारीफ के काबिल हम कहाँ;
चर्चा तो आपकी चलती है!
सब कुछ तो है आपके पास;
बस सींग और पूंछ की कमी खलती है!


शादी करनी थी पर किस्मत खुली नहीं!
ताज बनाना था पर मुमताज मिली नहीं!
एक दिन किस्मत खुली और शादी हो गई!
अब ताज बनाना है पर यह मुमताज मरती ही नहीं!


शाम होते ही ये दिल उदास होता है!
टूटे ख्वाबों के सिवा कुछ न पास होता है!
तुम्हरी याद ऐसे वक़्त बहुत आती है!
जब कोई बन्दर आस-पास होता है!


एक आप हो कितने अच्छे हो!
एक आप हो कि कितने सुंदर हो!
एक आप हो कि कितने सच्चे हो!
और एक हम है कि झूठ पर झूठ बोले जा रहे है!


कितना बेबस है इंसान, किस्मत के आगे!
हर सपना टूट जाता है हकीकत के आगे!
जिसने कभी हाथ न फेलाया हो,
वो भी हाथ फेलता है `गोलगप्पे वाले` के आगे!


फूल बिना, खुशबू बेकार;
चाँद बिना, चांदनी बेकार;
प्यार बिना, ज़िन्दगी बेकार;
मेरे एस एम् एस बिना, तुम्हारा मोबाइल बेकार!


जब बारिश होती है, तुम याद आते हो!
जब काली घटा छाए, तुम याद आते हो!
जब भीगते हैं हम, तो तुम याद आते हो!
बताओ, तुम मेरी छतरी कब वापिस करोगे!


उधर आप मजबूर बैठे हैं;
इधर हम खामोश बैठे है;
बात हो तो कैसे हो;
जब दोनों तरफ दो कंजूस बैठे हैं!


प्यार हुआ इकरार हुआ है;
प्यार से फिर क्यों डरता है दिल;
क्यों न डरे दिल?
.
..

क्योंकि आजकल के प्यार से बढ़ता है, सिर्फ मोबाइल और रेस्टौरेंट का बिल!


मोहब्बत सिर्फ खर्चों की बड़ी लंबी कहानी है;
कभी फिल्म दिखानी है, कभी शॉपिंग करानी है;
मास्टर रोज कहता है कहाँ हैं फीस के पैसे?
उसे समझाऊं मैं कैसे, मुझे छोरी (लड़की) पटानी है!


हर तरफ पढाई का साया है;
किताबों मैं सुकून किसने पाया है;
लड़के तो जाते हैं ट्यूशन में लडकियां देखने;
और मास्टर कहता है देखो बेचारा इतनी बरसात में भी पढने आया है!


दोस्त रूठे तो रब रूठे, फिर रूठे तो जग छूटे;
अगर फिर रूठे तो दिल टूटे, और अगर फिर रूठे?
तो निकाल डंडा;
मार साले को जब तक डंडा न टूटे!


ये मामला भी कैसा अजीब है;
तू दूर होकर भी मेरे करीब है;
ख्वाहिश मिटा तू अपने दिल से उसे पाने की;
क्योंकि जो लड़का तुझे पसंद है वो खानदानी गरीब है!


ताजमहल को देख कर बोला शाहजहाँ का पोता;
ताजमहल को देख कर बोला शाहजहाँ का पोता;
आज अपना भी मोटा बैंक बैलेंस होता;
अगर हमारा दादा आशिक ना होता!


अर्ज़ किया है:
वो कहती अपने भाइयों से, मेरे आशिक़ को यूँ ना पीटो;
ज़रा गौर फरमाइये:
वो कहती अपने भाइयों से, मेरे आशिक़ को यूँ ना पीटो;
बड़ा ज़िद्दी है ये कमीना, पहले कुत्ते की तरह घसीटो।


मेरे इश्क की बोलिंग ने उसके दिल की विकेट बहुत उम्दा तरीके से गिराई;
तकदीर ऐसी हमारी, अंपायर उसका बाप निकला, जिसने ऊँगली नहीं उठाई!


धन से बेशक गरीब रहो पर दिल से रहना धनवान;
अक्सर झोपडी पे लिखा होता है सुस्वागतम;
और महल वाले लिखते है कुत्ते से सावधान।


तेरे ग़म में तड़प कर मर जायेंगे;
मर गए तो तेरा नाम ले जायेंगे;
रिश्वत देकर तुझे भी बुलायेंगे;
तुम ऊपर आओगे तो साथ बैठकर कुरकुरे खायेंगे।


हीर रो-रो कर रांझे से कह रही है;
हीर रो-रो कर रांझे से कह रही है;
.
.
.
.
.
हाथ छोड़ कमीने मेरी नाक बह रही है।


न वफ़ा का ज़िक्र होगा;
न वफ़ा की बात होगी;
अब मोहब्बत जिस से भी होगी;
राखी के बाद होगी।


किस किस का नाम लें, अपनी बरबादी मेँ;
बहुत लोग आये थे दुआयेँ देने शादी मेँ!


वो ज़हर देकर मारते तो दुनिया की नज़र में आ जाते;
अंदाजे कत्ल तो देखो मोहब्बत करके हमसे शादी ही कर ली।


वो मंदिर भी जाता है और मस्जिद भी:
परेशान पति का, कोई मज़हब नहीं होता।


मोहब्बत का सफर लंबा हुआ​;​
​​तो क्या हुआ, थोड़ा तुम चलो​;
​थोड़ा हम चले, थोड़ा तुम चलो;​
​थोड़ा हम चले, फिर रिक्शा कर लेंगे।


Leave a Reply