एग्रीमेंट होने के बाद प्रॉपर्टी मालिक रजिस्ट्री ना करे तो क्या करें

एग्रीमेंट होने के बाद प्रॉपर्टी मालिक रजिस्ट्री ना करें तो क्या कर सकते हैं। आज की जानकारी में हम जानेंगे जब कोई कोई व्यक्ति अपने किसी जमीन का या अपने प्रॉपर्टी को बेचने का रिमाइंड कर देता है या साधारण भाषा में इकरारनामा कर लेता है और जब यह इकरारनामा पूरा करने का समय आता है तो वह अपनी बात से मुकर जाता है या प्रॉपर्टी को बेचने से मना कर देता है तो हम क्या कर सकते हैं।

एग्रीमेंट-होने-के-बाद-प्रॉपर्टी-मालिक-रजिस्ट्री-ना-करे-तो-क्या-करें

इकरारनामा यानी कि एग्रीमेंट से मुकर जाना इसका कई कारण हो सकते हैं उसके मन में यह आ गया होगा कि एग्रीमेंट में जमीन की कीमत कम लिख दी गई हो या कोई अन्य व्यक्ति उस जमीन की उसको ज्यादा कीमत दे रहे हो। कारण कोई भी हो सकता है लेकिन जब भी उसे एग्रीमेंट में लिखी हुई तारीख पर उस एग्रीमेंट के हिसाब से रजिस्ट्री मना करने से तो क्या होता है।

एग्रीमेंट क्या होता है

एग्रीमेंट एक तरह का दस्तावेज है हमने आपको पहले ही बता दिया है हमने अपनी पिछल जानकारी में बताया कि मैं उठ गया है कैसे होता है एग्रीमेंट करने में क्या क्या सावधानियां बरतनी चाहिए यह सब जानकारी आप हमारी पिछली आर्टिकल से पढ़ सकते हैं।

जब कोई व्यक्ति क्या प्रॉपर्टी मालिक एग्रीमेंट दस्तावेज पूरा हो जाने के बाद एग्रीमेंट करने के समय में अपनी बात से मुकर जाता है एग्रीमेंट में लिखी हुई एग्रीमेंट के हिसाब से वह उस जमीन को रजिस्ट्री करने लिखने से मना कर देता है। तो तो खरीदार एग्रीमेंट के टर्म और कंडीशन को लेकर कोर्ट में अपील करवा सकता है। और कोर्ट के माध्यम से उसे अपने नाम करवा सकता है।

एग्रीमेंट करने से पहले जरूरी नियम और कानून

  • सबसे पहले जब भी कोई एग्रीमेंट एग्रीमेंट कराने से पहले प्रॉपर्टी मालिक (विक्रेता) को एक लिखित नोटिस जरूर देना चाहिए कि इस तारीख को आपको अपने प्रॉपर्टी का एग्रीमेंट करना है। एग्रीमेंट केस नियम और शर्त के अनुसार आपकी प्रॉपर्टी का रजिस्ट्री होना है यह एक नोटिस विक्रेता को जरूर देना चाहिए।
  • और नोटिस में तहसील में पहुंचने का समय भी निर्धारित किया जाता है कि आप किस समय तक तहसील कार्यालय में पहुंचे।
  • साथ ही एक नोटिस क्रेता के पास भी दी जाती है कि आप भी इस तारीख को इतने समय तक तहसील कार्यालय तक पहुंचे और उस प्रॉपर्टी की कीमत के अनुसार जो भी कीमत हो उसे अवश्य लेकर आए।

यह सब जानकारी ध्यान में रखनी है यदि आप इन सब जानकारी के साथ कोर्ट में जाते हैं तो कोर्ट आपकी बात अवश्य मानेगा और उस प्रॉपर्टी को एग्रीमेंट करने के लिए कार्यवाही करेगा।

एग्रीमेंट होने के बाद प्रॉपर्टी मालिक रजिस्ट्री नही कर रहा है तो क्या करें

यदि विक्रेता यानी कि प्रॉपर्टी मालिक एग्रीमेंट होने के बाद रजिस्ट्री के दौरान तहसील में नहीं आता है यार स नहीं करता है तो आप लिखित में इसकी सूचना संबंधित तहसीलदार को अवश्य दें और इस बात की रसीद अवश्य प्राप्त कर लें कि वह प्रॉपर्टी की रजिस्ट्री कराने कितने समय से समय तक तहसील में उपस्थित हैं और हमे इस बात की रसीद दी जाए।

इस प्रकार यदि प्रॉपर्टी मालिक प्रॉपर्टी रजिस्ट्री करने के लिए उपस्थित नहीं होता है तो आप अपने उस क्षेत्राधिकार न्यायालय में क्षेत्राधिकार से संबंधित जिस जगह जिस जिला में जिस तहसील में प्रॉपर्टी का एग्रीमेंट किया गया है। प्रॉपर्टी मालिक के खिलाफ एपीएमसी के तहत एक एप्लीकेशन जरूर देना चाहिए ताकि जमीन का मालिक जिसने एग्रीमेंट किया है उसे वह अपनी जमीन को किसी अन्य व्यक्ति को बेच या खरीदना सके। यदि आप क्षेत्राधिकारी को एप्लीकेशन दे देते हैं तो वह व्यक्ति अपने जमीन को किसी अन्य व्यक्ति को नहीं बेच पाएगा।

एप्लीकेशन के साथ-साथ स्टांप ड्यूटी बैंक में कितना पैसा था हमारे उसकी स्टेटमेंट की फोटो कॉपी और जो हमने तहसील में उपस्थिति रसीद की फोटो कॉपी और इसके साथ सूचना नोटिस जो इस तारीख को इतने समय को रजिस्ट्री होनी थी इसकी फोटो कॉपी सब डॉक्यूमेंट लगाकर। सिविल कोर्ट में दावा कर सकते हैं।

दवा होने के बाद सिविल कोर्ट उस विरोधी या प्रॉपर्टी के ओनर को जो एग्रीमेंट की शर्तों के अनुसार रजिस्ट्री नहीं कर रहा है उसके खिलाफ नोटिस जारी करेगा। और उससे इस बात का जवाब मांगा जाएगा क्यों और किस कारण से तहसील में उपस्थित नहीं हुआ और जमीन या प्रॉपर्टी का रिश्ता ही नहीं किया।

इसके तहत आपके द्वारा जो सबूत है और विक्रेता के पास जो सबूत होंगे सब कोर्ट में पेश किए जाएंगे। और इस हिसाब से संबंधित माननीय न्यायालय दोनों पछो में जो भी उचित होगा वह निर्णय करेंगे यदि आपने अग्रिमेट को कानून के मुताबिक किया है यह हमने जो ऊपर बातें बताएं हैं उसका पालन किया है तो उसके हिसाब से हमने पूरा सबूत इकट्ठा कर लिया है और आप इस दावे में सफल रहेंगे और आपके समझ फैसला करेगी

आशा करता हूं कि आप को हमारी पहचान कारी समझ में आ गई हो यदि आपको हमारी इस जानकारी से संबंधित कुछ सवाल पूछने है तो नीचे कमेंट करके हमसे पूछ सकते हैं।

Leave a Reply