Pregnancy Vomiting- प्रेगनेंसी में उल्टी कब कितने दिनों बाद होती है ?

आज हम बात करने वाले हैं। प्रेगनेंसी में उल्टी कब होती है, क्यों होती है और प्रेगनेंसी में उल्टी को कम कैसे किया जाए घरेलू उपाय और बहुत कुछ, इस जानकारी में आज हम आपको बताने वाले हैं। जब भी कोई महिला गर्भ धारण करती है, तो प्रेगनेंसी के 1 से 9 महीने के दौरान उसके शरीर में कई तरह के उतार-चढ़ाव होते हैं। अक्सर महिलाओं को प्रेगनेंसी के फर्स्ट मंथ से ही उल्टी, चक्कर आना, सर दर्द, कमर में दर्द होना जैसे परेशानियां शुरू हो जाती हैं।

प्रेगनेंसी-में-उल्टी-कब-कितने-दिनों-बाद-होती-है

इस जानकारी में हम बात करेंगे प्रेगनेंसी के दौरान होने वाले मॉर्निंग सिकनेस के बारे में प्रेगनेंसी में मॉर्निंग सिकनेस से बचने के लिए उपाय क्या है इसके बारे में भी इस जानकारी इस जानकारी में जानेंगे।

ज्यादातर महिलाएं प्रेगनेंसी में मॉर्निंग सिकनेस से परेशान रहती हैं, और प्रेग्नेंट के पहले 3 महीने में मॉर्निंग सिकनेस ज्यादा होते हैं। और चौथे महीने के बाद मॉर्निंग सिकनेस कम हो जाती है। आप खुद को सामान्य और पहले जैसा फील कर सकते हैं। फ्रेंड्स आमतौर पर किसी भी गर्भवती महिला को सुबह उठते ही थकान महसूस होना उल्टी, मचली, चक्कर आना, पेट में दर्द होना यह सभी मॉर्निंग सिकनेस की निशानियां मानी जाती है।

प्रेगनेंसी के दौरान होने से क्या सोना सामान्य माना जाता है। प्रेगनेंसी में उल्टी आना, मचली आना प्रेगनेंसी का फर्स्ट सिम्पटम्स माना जाता है और प्रेगनेंसी में उल्टी होना हेल्दी प्रेगनेंसी का संकेत है। क्योंकि इससे आपको होने वाले बच्चे को किसी भी तरह का नुकसान नहीं होता है। मॉर्निंग सिकनेस इस बात का भी संकेत करता है, कि आपका गर्भ स्वस्थ है। इसलिए यदि आपको ऐसी के शुरुआती 3 महीने तक मॉर्निंग सिकनेस की प्रॉब्लम हो रही है, ऐसा गर्भवती महिलाओं में प्रोजेस्ट्रॉन हार्मोन के बढ़ने के कारण होता है।

Pregnancy में Vomiting कब और कितने दिनों बाद शुरू होती है ?

गर्भावस्था में उल्टी कब होती है

प्रेगनेंसी में उल्टी होना आम बात है महिला को प्रेगनेंसी में उल्टी कभी भी हो सकती है। उल्टी की शुरुआत पहले महीने से आना शुरू हो जाती है। ज्यादातर महिलाओं में देखा गया है मॉर्निंग में आने की सुबह में उल्टियां ज्यादा होती हैं।

गर्भवस्था में उल्टी कबतक होती है

कुछ महिलाओं को 9 महीने तक उल्टियां होती हैं कुछ को 3 महीने तक होते हैं लेकिन ऐसा कोई गंभीर समस्या नहीं है। प्रेगनेंसी में कभी भी ओकलाइयां या उल्टी हो सकती है। जो आपके अंदर होने वाले हार्मोनल बदलाव की वजह से होती है।

गर्भावस्था में उल्टी क्यों होती है ?

  • प्रेगनेंसी में उल्टियां हार्मोन चेंज इसकी वजह से होती हैं क्योंकि जब महिलाएं प्रेग्नेंट होती हैं तो उनके अंदर हार्मोन चेंज होते हैं जिससे उन्हें उल्टियां होती हैं।
  • प्रेगनेंसी के दौरान गर्भवती स्त्रियां बहुत ज्यादा थक जाते हैं, थोड़ा सा काम करने पर ही थक जाती हैं, और उल्टी होने का एक ही कारण हो सकता है। इससे उन्हें ज्यादा काम नहीं करना चाहिए।
  • तनाव प्रेगनेंसी में उल्टी होना मानसिक तनाव भी कारण होता है।

गर्भावस्था में उल्टी होने पर क्या करें।

गर्भावस्था में उल्टी होना आम बात है कोई समस्या नहीं है यदि आपको ज्यादा उल्टियां हो रही है तो आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें किसी अच्छे गाइनेकोलॉजिस्ट से अपनी समस्या को बताएं बाकी नीचे हम आपको कुछ घरेलू उपाय बताएंगे इसका उपयोग करके आप उल्टियां कम कर सकते हैं।

गर्भावस्था में उल्टी रोकने या कम करने के घरेलू उपाय

  • प्रेगनेंसी में आप उल्टी होने से बचने के लिए सौफ, इलायची का टुकड़ा अपने मुंह में रखकर चूसे।
  • सुबह खाली पेट नारियल पानी जरूर पिएं नारियल पानी गर्भवती महिलाओं के लिए बहुत अच्छा माना जाता है। इसे आप को उल्टी मछली चक्कर आने की संभावना से राहत मिलेगी
  • अगर आप मॉर्निंग सिकनेस यानी कि गर्भवती में उल्टी होने से ज्यादा परेशान है तो एक चुटकी काला नमक, नींबू का रस, अदरक का टुकड़ा एक साथ लेकर चूसे।
  • ज्यादा देर तक भूखा ना रहे क्योंकि अधिक समय तक भूखा रहने से आपको मतली, उल्टी महसूस हो सकता है।
  • किसी भी तरह का फास्टिंग या व्रत न रखें।
  • थोड़े थोड़े समय में कुछ ना कुछ खाते रहें।
  • सुबह उठकर एक या दो संतरा जरूर खाएं। सुबह में संतरा खाने से मॉर्निंग सिकनेस तो कम होगा ही साथ ही प्रेग्नेंट महिला भी स्वस्थ रहती है।
  • सीजनल फलों का सेवन जरूर करें आम, केला, चीकू, तरबूज, मुसम्मी, कोकोनट पानी का सेवन जरूर करें।
  • आप बाहर जब भी जाए तो अपने पास कुछ ड्राई फ्रूट जरूर रखें जैसे बदाम काजू अखरोट क्योंकि ज्यादा देर भूखे रहने से आपको जी मचलाने की समस्या हो सकती है।
  • अपने शरीर में पानी की कमी ना होने दें पानी भरपूर मात्रा में पिए।

यदि आपको प्रेगनेंसी में अधिक उल्टी हो रही है तो अपने मन से कोई भी दवा ना खाएं, इसे अपने नजदीकी गाइनेकोलॉजिस्ट डॉक्टर से मिले दवा खाने से आपके बच्चे को नुकसान हो सकती है इसलिए आप चाहे तो डॉक्टर से बात कर सकते हैं डॉक्टर आपको जो भी मेडिसिन दे उसी का ही सेवन करें।

प्रेगनेंसी में उल्टी के दौरान डॉक्टर के पास कब जाना चाहिए

  • यदि आपको काफी ज्यादा उल्टियां हो रही है, दिन में कई बार हो रही है तो आपको डॉक्टर के पास जाकर उनसे सलाह जरूर लेना चाहिए।
  • यदि आपको उल्टी के साथ बुखार भी है तो भी आपको डॉक्टर से जरूर मिल लेना चाहिए।
  • यदि आपको उल्टी हो रही है और उसके साथ पेट में दर्द भी हो रहा है तो अपने गिनकोलॉजिस से जरूर मिले।
  • यदि उल्टी हो रही है उसके साथ चक्कर भी आ रहे हैं तो भी डॉक्टर से मिल लेना चाहिए।
  • यदि उल्टी हो रही है उसके साथ दस्त भी हो रहा है तो भी आपको अपने डॉक्टर से मिलना चाहिए।

क्या प्रेगनेंसी के दौरान उल्टी होने पर बच्चे पर असर पड़ता है ?

यदि आपको उल्टी हो रही है और आपका खाना अच्छे से पच रहा है तो आपके बच्चे को कोई दिक्कत नहीं होगी क्योंकि इससे आपके बच्चे को सभी पोषक तत्व मिल जा रही हैं, लेकिन यदि आपको खाना अच्छे से नहीं पच रहा है और आप कुछ खा पी नहीं पा रहे हो तो आपके बच्चे को दिक्कत हो सकती है क्योंकि उसके विकास के लिए जरूरी है कि आप अच्छे से खाए पिए।

तो दोस्तों आज की इस जानकारी में हमने जाना प्रेगनेंसी में उल्टी क्यों होती है कब होती है और उसके बचाओ उपाय क्या-क्या करें, आशा करता हूं कि आपको यह जानकारी समझ में आ गई हो यदि आपको कुछ पूछना है तो नीचे कमेंट करके से पूछ सकते हैं।

Share on:

About Writer

Leave a Comment